होमआसपास-प्रदेशसरकारी जमीन का फर्जीवाड़ा: बसंतपुर में चल रहा फर्जी पट्टा बनाने और...

सरकारी जमीन का फर्जीवाड़ा: बसंतपुर में चल रहा फर्जी पट्टा बनाने और बेचने का कारोबार

एसडीएम से की गई जांच कराने की मांग

कटघोरा/बसन्तपुर (पब्लिक फोरम)। कटघोरा तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत राल के आश्रित ग्राम बसन्तपुर में लगभग 60 एकड़ शासकीय व वन भूमि का फर्जी पट्टा बनाकर विक्रय करने की प्रयास की शिकायत करते हुए दोषियों पर कार्यवाही की मांग किया गया है। इस संबंध में ग्रामीणों की ओर से कटघोरा एसडीएम को ज्ञापन सौपा गया है।
ग्रामीणों ने इस संबंध में बताया है कि वर्ष 2018-19 में रेल कॉरिडोर के लिए जमीन अर्जन के दौरान बड़े पैमाने पर धांधली किया गया है। जो व्यक्ति गांव का निवासी ही नही है ऐसे 30 लोंगो के नाम पर 60 एकड़ का पट्टा बनाया गया है। पट्टा कैसे बना है इसकी जानकारी गांव के सरपंच सहित अन्य लोंगो को भी नही है। जिनके नाम पर पट्टा बना है उनको भी अपनी जमीन का स्थिति और भौतिक जानकारी नही है जिससे पूरा मामला ग्रामीणों की शिकायत को सही साबित करता है।

इसकी शिकायत लगभग एक वर्ष पूर्व किया था पर कोई कार्यवाही नही हुआ अब फिर से ग्रामीणों ने शिकायत करते हुए जांच की मांग किया है। किसानों की शिकायत यह भी है कि उनकी निजी हक की जमीन के रिकार्ड के साथ भी छेड़छाड़ किया गया है जिससे उनके खसरा व रकबा का सही जानकारी उपलब्ध नही हो पा रहा है।

ऊर्जाधानी संगठन के अध्यक्ष कुलदीप ने किया दौरा

ग्रामीणों के आमंत्रण पर ऊर्जाधानी भूविस्थापित किसान कल्याण समिति के अध्यक्ष सपुरन कुलदीप ने गांव का दौरा किया और ग्रामीणों से उनकी शिकायतें सुनी तथा विवादित स्थल का जायजा भी लिया। इस दौरान ग्रामीणों भी मौजूद रहे। उन्होंने ग्रामीणों के साथ बैठक भी किया। श्री कुलदीप ने बताया कि कटघोरा तहसील अंतर्गत बसन्तपुर पटवारी हल्का 2 में शासकीय भूमि के साथ छेड़छाड़ कर फर्जी पट्टा तैयार कर बिक्री करने की जानकारी मिली है और ग्रामीणों व संगठन की ओर से कटघोरा एसडीएम को जांच कार्यवाही कर वास्तविक तथ्यों को जनता के सामने लाने की मांग की गई है । उन्होंने बताया कि इस बात को लेकर गांव में अराजकता का माहौल निर्मित हो रहा है जो कभी भी अप्रिय घटना की संभावना है, इसलिए जल्द से जल्द जांच किया जाना जरूरी है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments