होमआसपास-प्रदेशवनाधिकार की मांग: किसान सभा ने सरपंच को सौंपा ज्ञापन

वनाधिकार की मांग: किसान सभा ने सरपंच को सौंपा ज्ञापन

जांजगीर-चांपा/सक्ती (पब्लिक फोरम)। वनभूमि पर लंबे समय से काबिज आदिवासियों को वनभूमि का पट्टा देने की मांग करते हुए छत्तीसगढ़ किसान सभा ने घुईचुंवा व ऋषभतीर्थ पंचायतों में रैली निकालकर सरपंच को ज्ञापन सौंपा तथा इस मुद्दे पर ग्राम सभा आयोजित करने का मांग की। किसान सभा ने इस मुद्दे पर अप्रैल माह में सक्ती जनपद पंचायत कार्यालय के समक्ष अनिश्चितकालीन धरना देने की भी चेतावनी दी है। प्रदर्शन का नेतृत्व बाल सिंह, बालक राम, लखन, चैतराम, वेगा सिदार, बरत राम सिदार, संतराम, राम सायं, गुरवारी बाई, समार सिंह,बरोहित कुमार, फिरतिन बाई ,गरीब लाल, चन्द्रमणि, मेदिनी प्रसाद आदि किसान सभा कार्यकर्ताओं ने किया।

छत्तीसगढ़ किसान सभा के जिला अध्यक्ष आशाराम पटेल ने राज्य सरकार पर वादा खिलाफी करने का आरोप लगाते हुये बताया कि जिले में बड़ी संख्या में लोग वनभूमि पर काबिज होकर कृषि कार्य कर रहे हैं, लेकिन इन लोगों के पास वनाधिकार पट्टा नही होने के कारण वे सरकार से सरकारी कृषि योजनाओं के लाभ से बंचित है और अपनी फसल को सहकारी सोसायटी में नही बेच पाते हैं। इससे वे बाजार में बिचौलियों के हाथों औने-पौने दामों में अपनी फसल बेचने के लिए मजबूर है।

किसान सभा नेता ने बताया कि पहले भी किसान सभा ने ऋषभतीर्थ, घुईचुंवा, जामचुवा, घोघरा, बरपाली आदि पंचायतों के सैकड़ों लोगों के आवेदन पंचायत में जमा किये थे, लेकिन आज तक प्रशासन ने इन आवेदनों पर कोई कार्यवाही नहीं की है और न ही ग्राम सभा की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा की गई है। सरपंच ने ग्रामीणो के मांगों का समर्थन करते हुए इस मुद्दे पर उनका साथ देने के वादे के साथ ज्ञापन लिया है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments