होमकोरबामोबाईल मेडिकल यूनिटों में जांच व इलाज की बेहतर सेवाएं सुनिश्चित हों:...

मोबाईल मेडिकल यूनिटों में जांच व इलाज की बेहतर सेवाएं सुनिश्चित हों: आयुक्त

आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय ने मोबाईल मेडिकल यूनिट्स का किया निरीक्षण

कोरबा (पब्लिक फोरम)। आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय ने अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा है कि मोबाईल मेडिकल यूनिटों में जांच व इलाज संबंधी सभी सेवाएं बेहतर स्वरूप में हों, जांच व इलाज कराने आए लोगों की सतुष्टिपूर्ण जांच व उनका उचित इलाज हो, यथासंभव उन्हें सभी दवाईयांॅ कैम्प में ही उपलब्ध कराई जाए तथा दवाओं की निरंतर उपलब्धता सुनिश्चित कराएं, वार्डो में लगने वाले कैम्प निर्धारित समय पर लगे तथा कैम्प से एक दिन पूर्व मुनादी आदि के माध्यम से लोगों को कैम्प की जानकारी दें।

आयुक्त श्री पाण्डेय ने आज मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजनांतर्गत संचालित मोबाईल मेडिकल यूनिट का औचक निरीक्षण किया तथा उक्ताशय के निर्देश अधिकारियों को दिए। यहॉं उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजनांतर्गत नगर पालिक निगम केारबा क्षेत्र में 08 मोबाईल मेडिकल यूनिट संचालित हैं, जो निर्धारित कार्यक्रम के तहत विभिन्न वार्ड व बस्तियों में पहुंचकर मेडिकल कैम्प लगाती हैं तथा इन कैम्पों में लोगों की निःशुल्क जांच एवं उनका मुफ्त मंे इलाज किया जाता है। आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय ने आज मुड़ापार बस्ती तथा सुदूर ग्रामीण बस्ती कुमगरी में संचालित मोबाईल मेडिकल यूनिट कैम्प का औचक निरीक्षण किया एवं वहॉं की व्यवस्थाओं को देखा।

उन्होने यूनिट में स्थापित लैब, डॉक्टर कक्ष, ओ.पी.डी. आदि का निरीक्षण किया, रिकार्ड पंजी का अवलोकन किया तथा जांच व इलाज संबंधी बेहतर सेवाएं नागरिकों को सतत रूप से उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होने यूनिट के डॉक्टर व अन्य स्टाफ द्वारा ड्रेस कोड का पालन न किए जाने पर नाराजगी जाहिर की तथा सभी को डेªस कोड का अनिवार्य रूप से पालन करने व निर्धारित डेªस में सेवाएं देने के निर्देश दिए।

शासन की फ्लेगशिप योजना में कोताही स्वीकार्य नहीं – आयुक्त श्री पाण्डेय ने अधिकारियों केा निर्देशित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना माननीय मुख्यमंत्री जी की फ्लेगशिप जनकल्याणकारी योजना है, इस योजना का सफल क्रियान्वयन हमारी जिम्मेदारी है, यह योजना नागरिकों व विशेषकर श्रमिक वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की बीमारियों की निःशुल्क जांच व उनका निःशुल्क इलाज करने से संबंधित है, अतः मोबाईल मेडिकल यूनिट में इलाज हेतु पहुंचने वाले लोगों को बेहतर सेवाएं दी जाएं, इनमें किसी प्रकार की कोताही स्वीकार्य नहीं होगी।

अब तक 01 लाख 94 हजार व्यक्ति लाभान्वित- निरीक्षण के दौरान आयुक्त श्री पाण्डेय ने यूनिट्स की रिकार्ड पंजी, दवाओं की उपलब्धता एवं प्रकार तथा यूनिट्स में किए जाने वाली जांच आदि की विस्तार से जानकारी ली। मोबाईल मेडिकल यूनिट में स्थित लैब में 41 प्रकार की जांच की सुविधा उपलब्ध है तथा विभिन्न बीमारियों की 94 प्रकार की दवाएं आवश्यकतानुसार मरीजों को दी जाती है, अधिकारियों ने बताया कि विभिन्न वार्ड व बस्तियों में अभी तक 2655 शिविर एम.एम.यू. के माध्मय से लगाए जा चुके हैं एवं इन शिविरों में 01 लाख 94 हजार से अधिक व्यक्ति लाभान्वित होकर अपनी निःशुल्क जांच व इलाज करा चुके हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments