होमकोरबाबालको के अधिकारियों ने जनसुनवाई के नाम पर स्थानीय लोगों के साथ...

बालको के अधिकारियों ने जनसुनवाई के नाम पर स्थानीय लोगों के साथ किया धोखा

कोरबा//पब्लिक फोरम// भारत एल्युमिनियम कंपनी अंडर वेदांता ग्रुप के अधिकारियों ने बालको संयंत्र के समीप स्थित समस्त वार्डों एवं गांव में जा-जा कर सभाओं में आम जनता को बुलाकर संबोधित किया एवं उन्हें विश्वास दिलाया की बाहरी कंपनियां आने पर वह सर्वप्रथम स्थानीय लोगों को रोजगार मुहैया कराएंगे।

तथा ग्रहणी महिलाओं को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से आय के रास्ते उत्पन्न कर उनके साथ जोड़ा जाएगा (ऐसा उन्होंने विश्वास दिलाया एवं जन समर्थन इकट्ठा किया)

” परंतु ऐसा कुछ भी नहीं हुआ ”

भारत एल्युमिनियम कंपनी संयंत्र में कंपनियों के आने की शुरुआत हो चुकी है कुछ नेशनल लेवल की कंपनियां हैं कुछ इंटरनेशनल लेवल की कंपनियां है।

परंतु भारत एल्युमिनियम कंपनी संयंत्र में उनके अधिकारियों के द्वारा किए गए वादे से जस्ट ऑपोजिट कार्य किया जा रहा है संयंत्र में स्थानीय लोगों को भर्ती लेने के विपरीत लोकल लोगों की छंटनी चालू हो गई है कंपनियां अपने वर्कर्स स्वयं बाहर से चाहे वह ऑनलाइन भर्ती के माध्यम से, चाहे वह आउटसोर्सिंग के माध्यम से, चाहे वह अन्य किसी सोर्स के माध्यम से ला रही है।

‘ परंतु लगातार धड़ल्ले से भर्ती चालू है ”

भर्ती की प्रक्रिया स्थानीय लोगों से छुपाकर करने की कोशिश भी की जा रही है तथा कहने पर यह कहा जाता है कि उन पुराने मजदूरों के साथ ही कार्य किया जा रहा है जो पूर्व से संयंत्र में कार्यरत हैं।
और कोई नई भर्ती नहीं की जा रही इस तरह से झूठ कह कर स्थानीय लोगों को मूर्ख बनाया जा रहा है।

बल्कि ऐसा नहीं है पूर्व में जितनी कंपनियां अपने कार्य को बंद कर-कर जा रही हैं वह अपने ऐसे मजदूर जो उनके साथ जाना चाहते हो उन्हें भी साथ लेकर जा रहे हैं तथा उनकी जगहों पर कंपनियां धड़ल्ले से अपने लोगों को भर्ती कर रही है तथा स्थानीय लोगों को दरकिनार कर बेवकूफ बना रही है।

इसीलिए स्थानीय लोगों को यह बताना जरूरी है कि आप लोगों को छला गया है और आज जब शुरुवात ही स्थानीय लोगों को दरकिनार करके किया जा रहा है तो आगे कंपनी की रणनीति क्या होगी उस पर सवाल उठता है और स्थानीय लोगों को इसी प्रकार से भूखा रखा जाएगा एवं भीख मांगने की स्थिति में लाया जाएगा ऐसी इस कंपनी की नियत है।

परसा भांठा विकास समिति बालको के पदाधिकारी शहजाद अहमद खान ने समस्त स्थानीय युवा बेरोजगार एवं ग्रहणी महिलाओं तथा बेरोजगारों से अपील करते हुये कहा है कि कि वे अपने हक की लड़ाई के लिए प्रबंधन का विरोध करें एवं आउटसोर्सिंग से जितने भर्ती किए जा चुके हैं उन सब की भर्ती को निरस्त करवाएं एवं लोकल लोगों को सर्वप्रथम भर्ती करने हेतु संयंत्र को बाध्य करें।

बालको के स्थानीय लोगों को बालको प्रबंधन को नौकरी में लेना ही होगा अन्यथा इसका खामियाजा भुगतने हेतु प्रबंधन तैयार रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments