मंगलवार, जून 25, 2024
होमआसपास-प्रदेशनेतृत्व विकास एवं आजीविका प्रबंधन पर महिला स्वयं सहायता समूहों का प्रशिक्षण...

नेतृत्व विकास एवं आजीविका प्रबंधन पर महिला स्वयं सहायता समूहों का प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न

कोरबा/दीपका (पब्लिक फोरम)। एसईसीएल दीपका अंतर्गत पुनर्वास ग्राम सिरकीखुर्द गांधीनगर में स्वयं सहायता समूह की बहनों को नेतृत्व विकास और आजीविका प्रबन्ध विषय पर प्रशिक्षित किया गया। छत्तीसगढ़ नवप्रगति मंच समाजसेवी संस्था द्वारा आयोजित इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में 25 समूहों की अध्यक्ष सचिव और लेखापाल सम्मलित हुए ।

कार्यक्रम के आरम्भ में महापुरषो के छाया चित्र में पुष्पार्पण के पश्चात समूह की बहनों ने समूह गान एवं बिहान गीत की प्रस्तुति दी ।

नवप्रगति मंच के डायरेक्टर सपूरन कुलदीप, बिहान योजना के ग्रेडर उषा विश्वकर्मा, अरुणा चन्द्राकर ने स्वयं सहायता समूह के महत्व, पंचसूत्र बैठक, बचत, ऋण, आपसी लेनदेन, लेखा संधारण, 11 सूत्रीय गतिविधि, पर विस्तार से जानकारी प्रस्तुत किया।

समूह के माध्यम से महिलाओ के अधिकार, आर्थिक, सामाजिक, शैक्षणिक और राजनैतिक सशक्तिकरण के लिए समाज मे किये जाने वाले प्रयासो से अवगत कराया गया। परिवार, देश व समाज के विकास में महिला समूहों की भूमिका पर प्रकाश डाला गया।

गृह उद्योग और स्वरोजगार से स्थाई आजीविका आदि के क्षेत्र में महिला समितियों की उपलब्धियों को सामने रखते महिला, कुटीर उद्योग स्थापित करने की प्रेरणा दी गयी तथा शासन एव स्थानीय एसईसीएल प्रबन्धन द्वारा स्वयं सहायता समूहों को प्रदाय की जाने वाली सुविधाओं आर्थिक मदद जानकारी और मार्केटिंग करने की टिप्स भी दिया गया। जिला प्रशासन एवं एसईसीएल के सौजन्य से सीएसआर मद से विभिन्न प्रकार की मशीन हेतु आवेदन पत्र भी भरवाया गया।

इस अवसर पर ऊर्जाधानी भूविस्थापित किसान कल्याण समिति के पदाधिकारियों कुलदीप सिंह राठौर, ललित महिलांगे, बेलटिकरी सरपंच बसंत कंवर, संतोष चौहान, अजय यादव आदि ने भी अपना समर्थन दिया।

कार्यक्रम का संचालन अर्जुन वस्त्रकार एवं व्यवस्था व तैयारी आशीष दिव्य ने किया ।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments