मंगलवार, जून 25, 2024
होमकोरबाधान खरीदी: जिले में अब तक 3.50 लाख क्विंटल से अधिक धान...

धान खरीदी: जिले में अब तक 3.50 लाख क्विंटल से अधिक धान की हुई खरीदी

9000 से अधिक किसानों का 68 करोड़ 30 लाख रुपए का धान खरीदा गया

20 दिसंबर के लिए 1000 से अधिक किसानों ने कटाया टोकन, लगभग 42000 क्विंटल धान खरीदा जाएगा

कोरबा (पब्लिक फोरम)। धान खरीदी के महापर्व में कोरबा जिले में अब तक नौ हजार 076 किसानों का 68 करोड़ 30 लाख रूपए से अधिक का धान खरीदा जा चुका है। कोरबा जिले में 55 उपार्जन केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी एक दिसंबर से जारी है। जिले के किसानों से अब तक तीन लाख 52 हजार 060 क्विंटल धान सहकारी समितियों द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदा जा चुका है। कोरबा जिले में धान खरीदी को लेकर किसानों में अच्छा उत्साह है। नियमित रूप से किसानों के टोकन कटने, धान की तौलाई और भुगतान जैसी सुविधाओं से किसानों में अपनी मेहनत से उगाए धान को समितियों में बेचने का अलग उत्साह है। किसानों को अपना धान बेचने के लिए किसी भी तरह की परेशानी नहीं हो रही है। इसके साथ ही तेजी से धान उठाव के लिए मिलर्स को डीओ भी जारी किए जा रहे हैं। किसी भी धान खरीदी केन्द्र में अभी तक जाम की कोई स्थिति नहीं है।

जिले के 55 धान खरीदी केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की सभी व्यवस्थाओं से किसानों में धान बेचने के लिए खासा उत्साह है। जिले में 17 दिसंबर तक तीन लाख 52 हजार 060 क्विंटल धान खरीदा जा चुका है। इसमें से तीन लाख 24 हजार 648 क्विंटल 40 किलो मोटा और 27 हजार 303 क्विंटल 60 किलो सरना और 108 क्विंटल 40 किलो पतला धान शामिल है। जिले में 20 दिसंबर को धान बेचने के लिए एक हजार 008 किसानों को टोकन जारी किए गए हैं। इन किसानों से लगभग 41 हजार 973 क्विंटल धान की खरीदी की जाएगी।

कोरबा जिले में अभी तक मिलरों द्वारा कुल खरीदे गए धान में से लगभग 41 प्रतिशत धान का उठाव कर लिया गया है। मिलर्स ने खरीदी केन्द्रों से एक लाख 43 हजार क्विंटल से अधिक धान उठा लिया है। जिला विपणन अधिकारी ने बताया कि जांजगीर जिले से धान उठाव की पांच लाख क्विंटल की लिमिट भी पूरी हो चुकी है। इसलिए कोरबा जिले के खरीदी केन्द्रों से धान उठाव के लिए लगातार डीओ जारी हो रहे हैं। कोरबा जिले की किसी भी समिति में धान जमाव की स्थिति नहीं है। उन्होंने बताया कि जिले के खरीदी केन्द्रों से एक लाख 30 हजार 954 क्विंटल 40 किलो मोटा और 12 हजार 138 क्विंटल सरना धान का उठाव मिलरों द्वारा कर लिया गया है। जिला विपणन अधिकारी ने बताया कि सभी समितियों में धान की शेष मात्रा निर्धारित बफर लिमिट के आसपास ही है और लगातार डीओ कटने से मिलरों को तत्काल गाड़ियां लगवाकर धान उठाव के लिए निर्देशित भी किया जा रहा है।को 1800 किसानों से खरीदा जाएगा लगभग 42000 क्विंटल धान

सोमवार 20 दिसंबर को एक हजार 008 किसानों को धान बेचने के लिए उपार्जन केन्द्रों से टोकन जारी कर दिए गए हैं। 20 दिसंबर को इन किसानों से 41 हजार 973 क्विंटल से अधिक धान समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा। सोमवार को धान खरीदी केन्द्र अखरापाली में 28, उतरदा में 21, कटघोरा में 11, कनकी में 16, करतला में 16, केरवाद्वारी में 23, कुलहरिया में 16, कोथारी में 20, कोरकोमा में 26, कोरबी पाली में 25, पोड़ी-उपरोड़ा कोरबी में 22, चैतमा में 15, चिकनी पाली में 18, लबेद में 16, छुरीकला में 17, सुमेधा में 05 एवं जटगा में 10 किसान समर्थन मूल्य पर धान बेचेंगे।

धान खरीदी केन्द्र जटगा तुमान में 07, जवाली में 27, रंजना में 11, तुमान में 20, तिलकेजा में 34, दुरपा में 21, नवापारा में 24, बेहरचुंआ में 23, निरधि में 21, पठियापाली में 16, पसान में 16, लैंगा में 08, नुनेरा में 13, पाली में 29, पिपरिया में 05, पोड़ी में 15, पोड़ी-उपरोड़ा में 14, फरसवानी में 23, बरपाली कोरबा में 22, बरपाली में 42, बिंझरा में 11, कुदुरमाल में 20 एवं भैंसमा में 25 किसानों ने धान बेचने के लिए टोकन कटाया है। इसी प्रकार धान खरीदी केन्द्र भिलाई बाजार में 20, रामपुर में 34, लाफा में 24, श्यांग में 14, उमरेली में 31, सुखरीकला में 19, सिरमिना में 30, दादरखुर्द में 14, सोनपुरी में 18, सोहागपुर में 23, कराईनारा में 09, नोनबिर्रा में 08 एवं हरदीबाजार में 12़ किसानों को धान बेचने के लिए टोकन जारी किया गया है।

उल्लेखनीय है कि सहकारी समितियों में शासकीय अवकाश के दिनों को छोड़कर सप्ताह में सोमवार से शुक्रवार तक धान की खरीदी की जा रही है। किसानों को रविवार से शुक्रवार तक सुबह साढ़े नौ बजे से शाम पांच बजे तक टोकन जारी किये जा रहे हैं। जिले के धान खरीदी केन्द्रों में कॉमन धान एक हजार 940 रूपए प्रति क्विंटलऔर ए ग्रेड धान एक हजार 960 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जा रहा है। इस बार किसानों से एक दिसंबर 2021 से 31 जनवरी 2022 तक नकद और लिकिंग में धान की खरीदी की जा रही है। प्रदेश के किसानों से अधिकतम 15 क्विंटल प्रति एकड़ की सीमा तक धान खरीदा जा रहा है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments