होमबिहारछात्रों-नौजवानों ने किया बिहार बंद: राजनीतिक दलों का व्यापक समर्थन

छात्रों-नौजवानों ने किया बिहार बंद: राजनीतिक दलों का व्यापक समर्थन

पटना (पब्लिक फोरम)। छात्रों और नौजवानों के संगठन द्वारा आज बुलाए गए बिहार बंद का राजधानी पटना में अच्छा-खासा असर रहा। बंद समर्थकों ने कई घंटों तक डाकबंगला चौराहे को जाम रखा, जिसके कारण यातायात व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई।

जनचौक की रिपोर्ट के अनुसार डाकबंगला पहुंचने के पहले आइसा के बिहार राज्य अध्यक्ष विकास यादव, नीरज यादव सहित अन्य छात्र नेताओं व छात्र संगठनों ने पटना विश्वविद्यालय कैंपस से बिहार बंद का जुलूस निकाला। वह जुलूस अशोक राजपथ, मखनियां कुआं तथा पटना शहर के विभिन्न इलाकों से गुजरते हुए डाकबंगला चौराहे तक पहुंचा। जुलूस में अच्छी संख्या छात्रों की शामिल थी।

अन्य दूसरे छात्र संगठनों व पार्टियों का जुलूस भी डाकबंगला पहुंचा और चौराहे को पूरी तरह से जाम कर दिया। छात्र संगठनों के बिहार बंद के समर्थन में भाकपा-माले विधायक दल के नेता महबूब आलम, पालीगंज विधायक संदीप सौरभ और भाकपा-माले के पटना नगर सचिव अभ्युदय डाक बंगला पहुंचे। इन नेताओं ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया।
पुलिस के साथ विधायक महबूब आलम व संदीप सौरभ व अन्य बंद समर्थकों की धक्कामुक्की हुई। पुलिस ने बल प्रयोग करने की कोशिश की, जिसका प्रदर्शनकारियों ने जमकर विरोध किया। डाकबंगला चौराहे पर जमे महबूब आलम, संदीप सौरभ व अन्य बंद समर्थकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि इन नेताओं को गिरफ्तार करके कोतवाली थाना ले जाया गया है।

गिरफ्तारी से पूर्व महबूब आलम ने कहा कि यह सरकार अपना हक-अधिकार मांग रहे छात्र-युवाओं पर बर्बर दमन अभियान चला रही है। और जब हम उनके समर्थन में आज सड़कों पर हैं, तो हम पर भी जुल्म ढाया जा रहा है। हमारी गिरफ्तारी हो रही है। बिहार की जनता इसका जवाब देगी। आज देश के युवा केंद्र सरकार की असलियत जान चुके हैं। बिहार सरकार ने भी छात्र-युवाओं को लगातार धोखा दिया है। मोदी सरकार दअरसल रेलवे को बेचना चाहती है। उसे अंबानी-अडानी के हाथों गिरवी रख देना चाहती है। इसे हम किसी भी कीमत पर सफल होने नहीं देंगे। आगामी विधानसभा सत्र के दौरान हम इसे एक महत्वपूर्ण मसला बनायेंगे और सरकार को जवाब देने के लिए बाध्य करेंगे।

संदीप सौरभ भी गिरफ्तार हुए। उन्होंने कहा कि यह आंदोलन अब रुकने वाला नहीं है। सरकार जितना दमन चला ले, रोजगार एक बड़ा मुद्दा बन चुका है। इन सरकारों के पास हमारे सवालों का कोई जवाब नहीं है, इसलिए वह दमन अभियान चला रही है। सुशील मोदी जैसे लोग अब बिहार के युवाओं को झांसे में नहीं रख सकते। पूरा बिहार जाग चुका है। हम छात्र-नौजवानों को हिंदू-मुसलमान नहीं, रोजगार चाहिए।

आइसा राज्य अध्यक्ष विकास यादव ने कहा कि आज के बंद को असफल करने के लिए सरकार ने हर तरह का तिकड़म लगाया, लेकिन उनकी हर तिकड़म असफल हो गई है। हम बिहार की जनता का धन्यवाद देते हैं जिन्होंने आज पूरी मुस्तैदी के साथ बिहार बंद को समर्थन दिया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments