मंगलवार, जून 18, 2024
होमआसपास-प्रदेशगौठान पहुंच कार्यक्रमः जिला स्तरीय अधिकारियों से लेकर मैदानी अमला आज एक...

गौठान पहुंच कार्यक्रमः जिला स्तरीय अधिकारियों से लेकर मैदानी अमला आज एक साथ पहुंचा गौठानो में

* व्यवस्थाओं से लेकर आजीविका गतिविधियों का अवलोकन: निरीक्षण जारी * गौठानो को रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित करने पर भी चर्चा

रायपुर (पब्लिक फोरम)। गौठान भ्रमण कार्यक्रम के तहत आज रायपुर जिले के जिला स्तरीय अधिकारी और विभिन्न विभागों का मैदानी अमला गौठानों में पहुंच गया है। अधिकारी इस दौरान गौठानों में विभिन्न व्यवस्थाओं से लेकर आजिविका गतिविधियों का अवलोकन निरीक्षण भी कर रहे है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देश पर जिले के लगभग 350 गौठानों में आज एक साथ अधिकारी-कर्मचारी पहुंच गए है और गौठानों का भ्रमण कर जमीनी हकीकत से अवगत हो रहे है। अधिकारी इस दौरान गौठानों में उपलब्ध सुविधाओं का अवलोकन करते हुए कार्यरत महिला स्व सहायता समूह एवं ग्राम गौठान समिति के सदस्यों से भी मिलकर उनके कार्याे की जानकारी ले रहे है। गौठानों में गोबर खरीदी तथा वर्मी खाद् बनाने से लेकर अजिविका से जुड़ी दूसरी गतिविधियों मुर्गी पालन, सब्जी उत्पादन, मछली पालन, बकरी पालन जैसी अन्य गतिविधियों की भी जानकारी अधिकारियों द्वारा ली जा रही है।

गौठान से जुड़ी ऐसी पूरी जानकारी लेकर गौठान को आजीविका केंद्र के रूप में सतत आगे बढ़ाने कि संभावनाओं पर भी गौठान में ग्रामीणों से चर्चा की जा रही है। गौठान के सभी गतिविधियों का निरीक्षण करते हुए समूह के सदस्यों को आय -व्यय की जानकारी रजिस्टर में दर्ज करने, गौठान में उपलब्ध स्थानों का बेहतर उपयोग करते हुए आजीविका के नए साधन विकसित करने कि समझाईश भी अधिकारियों दे रहे है।

गौठान पहुंच कार्यक्रम के संबंध में चर्चा करते हुए कलेक्टर श्री सौरभ कुमार ने बताया कि जिले के सभी गौठानों का निरीक्षण जिला स्तरीय नोडल अधिकारी और मैदानी अमले द्वारा किया जा रहा है। गौठान में होने वाले सभी गतिविधियों का अवलोकन कर अधिकारी अपनी रिपोर्ट तैयार कर संबंधित जनपद पंचायतों में प्रस्तुत करेंगे जिससे ग्रामीणों को गौठनों से होने वाले फायदों के बारे में जानकारी मिल सकेगी। उन्होंने बताया कि इससे गौठानों को रूरल इंडस्ट्रीयल पार्क के रूप में विकसित करने की योजना बनने में भी मदद मिलेगी।

सी.ई.ओ जिला पंचायत श्री चतुर्वेदी ने बताया कि शासन के दिशा निर्देश अनुसार जिले के ग्राम पंचायतों एवं शहरी क्षेत्रों में गौठनों का निर्माण कराया गया है एवं सभी जगहों पर केचुआ खाद निर्माण, सब्जी उत्पादन, मुर्गी पालन, बकरी पालन सहित कई आर्थिक गतिविधियां संचालित है। इसी तरह ग्राम गौठान समिति द्वारा गौठनों का संचालन करते हुए गोबर का क्रय किया जा रहा है। इन सब कामों को बारीकियों से देखने के लिए जिला स्तर के नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गई है ।

गौठान निरीक्षण के बिन्दु- अधिकारी अपने भ्रमण के दौरान गौठान में अभी तक कितनी गोबर खरीदी की गई है, गोबर से खाद्य निर्माण की स्थिति, गौठान में कितने समूह कार्य कर रहे हैं, गठान समिति के पास कितनी राशि उपलब्ध है, गौठान में पैरा दान की स्थिति, गौठान का रकबा कितना है, गौठनों में पशुधन के लिए उपलब्ध सुविधाएं जैसे अनेक बिंदुओं पर रिपोर्ट तैयार करेंगे। कृषि विभाग, पंचायत ग्रामीण विकास विभाग, पशुपालन विभाग के अधिकारियों के साथ सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को नोडल अधिकारी के रूप में नामांकित किया है। सभी नोडल अधिकारी अपनी विस्तृत रिपोर्ट संबंधित जनपद पंचायत को प्रस्तुत करेंगे। नोडल अधिकारियों की बैठक लेकर उन्हें इस संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई है, जिससे गौठनों से जमीनी स्तर की रिपोर्ट प्राप्त हो सके।

11 अप्रैल को कलेक्टर करेंगे वृहद समीक्षा- आज के गौठान भ्रमण से तैयार रिपोर्ट की बिन्दुवार समीक्षा कलेक्टर श्री सौरभ कुमार 11 अपै्रल को करेंगे। इसके लिए पंडित दिनदायल उपाध्याय ऑडिटोरियम में अधिकारियों की बड़ी बैठक होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments