होमकोरबाओबीसी और ईडब्ल्यूएस सर्वे की तिथि एक माह बढ़ी: अब 30 नवंबर...

ओबीसी और ईडब्ल्यूएस सर्वे की तिथि एक माह बढ़ी: अब 30 नवंबर तक चलेगा सर्वेक्षण

*सीजीक्यूडीसी मोबाइल ऐप में हो रहा सर्वेक्षण, सबसे अधिक नगर निगम कोरबा क्षेत्र से मिले आवेदन

कोरबा (पब्लिक फोरम) ओबीसी और ईब्ल्यूएस सर्वे की तिथि बढ़ा दी गई है। सर्वेक्षण की अंतिम तिथि को बढ़ाकर अब 30 नवंबर 2021 कर दिया गया है। सर्वेक्षण की अंतिम तिथि पहले 30 अक्टूबर 2021 निर्धारित थी जिसे बढ़ाकर 30 नवंबर किया गया है। कोरबा जिले में अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के सर्वेक्षण-संगणना के दौरान अब तक दो लाख 90 हजार 023 आवेदन मिल चुके हैं। इस सर्वेक्षण में दोनों वर्गाे के लिए नगरीय क्षेत्रों में एक लाख 15 हजार 545 लोगों ने और ग्रामीण क्षेत्रों में एक लाख 74 हजार 478 लोगों ने आवेदन किया है। सबसे अधिक आवेदन नगर निगम क्षे बीएनत्र में मिले हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वाधिक आवेदन पाली विकासखण्ड से हैं। जिले में मोबाइल एप्प के माध्यम से राज्य में अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के सर्वेक्षण-गणना का काम तेजी से जारी है। यह सर्वेक्षण 30 नवंबर तक जारी रहेगा।

जिले में ईडब्ल्यूएस वर्ग के सर्वेक्षण में अभी तक 24 हजार 318 आवेदन और ओबीसी वर्ग के सर्वेक्षण मे दो लाख 65 हजार 705 आवेदन प्राप्त हो गए हैं। शहरी क्षेत्रों में अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 96 हजार 556 और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 18 हजार 989 आवेदन मिले हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में ओबीसी के लिए एक लाख 69 हजार 149 और ईडब्ल्यूएस के लिए पांच हजार 329 आवेदन अभी तक मिले हैं।

छत्तीसगढ़ शासन ने राज्य की जनसंख्या में अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की गणना के लिए छत्तीसगढ़ क्वांटीफायबल डाटा आयोग बनाया है। अभी तक नगर निगम कोरबा क्षेत्र में 88 हजार 413, नगर पालिका कटघोरा क्षेत्र में 10 हजार 927, नगर पालिका दीपका क्षेत्र में सात हजार 234, नगर पंचायत पाली क्षेत्र में तीन हजार 733 और नगर पंचायत छुरीकला क्षेत्र में पांच हजार 238 आवेदन मिले हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे अधिक आवेदन पाली विकासखण्ड से मिले हैं। अभी तक पाली विकासखण्ड में 56 हजार 961, कटघोरा विकासखण्ड में 27 हजार 651, कोरबा विकासखण्ड में 23 हजार 690, करतला विकासखण्ड में 37 हजार 840 और पोड़ी-उपरोड़ा विकासखण्ड में 28 हजार 336 आवेदन ओबीसी और ईडब्ल्यूएस वर्ग के सर्वेक्षण के लिए प्राप्त हो चुके हैं।

ओबीसी एवं ईडब्ल्यूएस नागरिकों की गणना के लिए चिप्स द्वारा ‘सीजीक्यूडीसी‘ नाम से मोबाईल एप्प तैयार किया गया जिसे प्ले स्टोर से इंस्टाल किया जा सकता है। मोबाइल एप्प को इंस्टाल करने के बाद एप्प में आवेदक को पंजीयन करना होगा। पंजीयन हेतु एप्प में लॉगिन के लिए चार विकल्प दिये गये हैं। आधार कार्ड के द्वारा लॉगिन, राशन कार्ड के नंबर के आधार पर लॉगिन, राशन कार्ड के मुखिया के मोबाइल नम्बर के आधार पर लॉगिन अथवा उपरोक्त में से कोई भी प्रमाण नहीं होने की दशा में आवेदक स्वयं के मोबाईल के आधार पर लॉगिन कर सकते हैं। लॉगिन उपरांत सीजीक्यूडीसी एप्प में एक प्रपत्र में आवेदक से संबंधित जानकारी जिसमें नाम, पिता अथवा पति का नाम, वार्षिक आय, परिवार के सदस्यों की संख्या, वार्ड अथवा ग्राम पंचायत, जनपद, जिला आदि की जानकारी भरकर अपलोड करना होगा।
आवेदक के द्वारा अपलोड की गई जानकारी संबंधित आवेदक के ग्राम पंचायत, नगर पंचायत अथवा नगरीय निकाय के वार्ड के लिए नियुक्त किए गए सुपरवाईजर के पास स्वतः फारवर्ड हो जाएगी। आवेदक के क्षेत्र में अधिकृत सुपरवाईजर के पास जैसे ही आवेदक की जानकारी प्राप्त होगी, वह उसका सत्यापन करेगा, तत्पश्चात् डाटा सर्वर में सुरक्षित रहेगा। यह डाटा राज्य के अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की गणना में सहायक होगी। ऐप के माध्यम से दिए गए जानकारियों का सत्यापन किया जाएगा।

ओबीसी वर्ग के लिए जाति सत्यापन के लिए जाति प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग या ईडब्ल्यूएस के सत्यापन के लिए स्वयं के द्वारा शपथ पत्र में दी गई घोषणा पत्र जिसमें पूरे परिवार की सालाना आय आठ लाख से कम होना चाहिए, पांच एकड़ से कम कृषि योग्य भूमि होना चाहिए। एक हजार वर्ग फिट से अधिक का फ्लैट नहीं होना चाहिए। नगर पालिका के तहत 100 वर्ग गज या इससे अधिक का आवासीय भूखण्ड नहीं होना चाहिए। ग्रामीण क्षेत्र में 200 वर्ग गज या इससे अधिक का आवासीय भूखण्ड नहीं होना चाहिए।

अभी तक जिले के नगरीय निकायों में अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल होने कुल 96 हजार 556 आवेदन मिले हैं। नगर निगम कोरबा क्षेत्र में 75 हजार 010, नगर पालिका कटघोरा क्षेत्र में 09 हजार 249, नगर पालिका दीपका क्षेत्र में चार हजार 888, नगर पंचायत पाली क्षेत्र में दो हजार 753 और नगर पंचायत छुरीकला क्षेत्र में चार हजार 656 लोगों ने आवेदन कर अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल करने की मांग की है। इसी तरह ओबीसी श्रेणी में शामिल होने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में एक लाख 69 हजार 149 लोगों ने आवेदन किया है। कटघोरा विकासखण्ड से 27 हजार 539, करतला विकासखण्ड से 36 हजार 146, कोरबा विकासखण्ड से 22 हजार 723, पाली विकासखण्ड से 55 हजार 672 और पोड़ी उपरोड़ा विकासखण्ड से 27 हजार 069 आवेदन ओबीसी वर्ग में शामिल होने मिले हैं। कोरबा जिले में अभी तक 24 हजार 318 आवेदन आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग में शामिल होने के लिए प्राप्त हुए हैं। नगरीय क्षेत्रों में 18 हजार 989 और ग्रामीण क्षेत्रों में पांच हजार 329 आवेदन ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए मिले हैं।

नगर निगम कोरबा क्षेत्र में 13 हजार 403, नगर पालिका कटघोरा क्षेत्र में एक हजार 678, नगर पालिका दीपका क्षेत्र मे दो हजार 346, नगर पंचायत पाली क्षेत्र में 980 और नगर पंचायत छुरीकला क्षेत्र में 582 लोगों ने आवेदन कर ईडब्ल्यूएस वर्ग में शामिल करने की मांग की है। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों में कटघोरा विकासखण्ड से 112, करतला विकासखण्ड से एक हजार 694, कोरबा विकासखण्ड से 967, पाली विकासखण्ड से एक हजार 289 और पोड़ी उपरोड़ा विकासखण्ड से एक हजार 267 आवेदन आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग में शामिल होने के लिए मिले हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments