होमकोरबाऊर्जाधानी संगठन ने वार्ड 56 सुराकछार बस्ती में की बैठक

ऊर्जाधानी संगठन ने वार्ड 56 सुराकछार बस्ती में की बैठक

” सीएसआर और जिला खनिज निधि मद से सामुदायिक विकास और आजीविका मिशन की दी जानकारी

कोरबा (पब्लिक फोरम)। ऊर्जाधानी भूविस्थापित किसान कल्याण समिति के तत्वाधान में वार्ड 56 के छूराकछार बस्ती में ग्राम जन चौपाल मिशन के तहत बैठक आयोजित किया गया । संगठन के अध्यक्ष सपूरन कुलदीप ने संगठन की ओर से किये जा रहे प्रयासों और आंदोलन के सबन्ध में जानकारी देते हुए बैठक में बताया कि कोयला खदानों के कारण प्रभावित होने वाले किसान व भूविस्थापित परिवारों की पुनर्वास और उनके स्थाई आजीविका रोजगार और स्वरोजगार की व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए संगठन के द्वारा उठाई गयी मांगो पर एसईसीएल की स्वीकृति और जिला कलेक्टर द्वारा इस सबन्ध में दिए निर्देशो को भी विस्तार से बताया ।

उन्होंने उल्लेख करते हुए कहा कि हम आपस मे बस्ती की फसल क्षतिपूर्ति और कृषि भूमि का मरम्मत कार्य कराने के सन 2011 से एक साथ संघर्ष से जुड़े हुए हैं और अथक प्रयासों से क्षेत्रीय व मुख्यालय स्तर के अधिकारियों के साथ मौके का निरीक्षण कर समाधान की कार्यवाही को आगे बढ़ाया जा सका है जिसके कारण अभी विगत तीन वर्षों की फसल क्षति पूर्ति राशि जारी किया गया है । इसी तरह से स्कूल की बाउंड्री वाल और कृषि कार्य के लिए पम्प हाउस के पास टैंक निर्माण कर पानी सप्लाई करने पर एसईसीएल कोरबा क्षेत्र अग्रिम कार्यवाही कर रही है ।

उन्होंने ग्रामीणों को जानकारी देते हुए कहा कि युवा बेरोजगारों तथा महिलाओ के स्वरोजगार के लिए दोना पत्तल, अगरबत्ती , गमला , चप्पल , बैग आदि बनाने की मशीन देने के लिए प्रबन्धन राजी हुआ है । ऐसे सभी समूहों को जो इन कामो को करने की इच्छुक होंगे उनके लिए स्वयं सेवी संगठन छत्तीसगढ़ नव प्रगति मंच सपोर्ट भी करेगी और समूहों को मार्केट के साथ जोड़ने में मदद करेगी । उन्होंने बताया कि ग्रामीण व शहरी आजीविका मिशन के तहत फलदार पौधों और मशरूम , जैविक खेती , वर्मी कम्पोस्ट आदि को लगाने की यूनिट बनाया जाएगा ।

बैठक में प्रमुख रूप से सतीश चंद्रा, कृपालसिंह कवर, सूरज कुमार यादव, विनीता कंवर, विशाल यादव, पुराण सिंह, जय पाल यादव, विशाल राम, लक्ष्मीन बाईं, दूज बाई, विनिता कंवर, डायमनी, खीखबाई, सरजू यादव, मनोहर कंवर, सावित्री कंवर, जमुना बाई, रुपा कंवर, सुमित्रा, मितला कंवर, संतोषी कंवर, आनन्द कुंवर, राम बाई, झुल बाई, नोहर कुवर, लक्ष्मीन बाई, सोन कुवर सहित काफी संख्या में लोग शामिल हुए ।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments